Dainik Bhaskar Dainik Bhaskar

Dainik Bhaskar पतंजलि योगपीठ में 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया:स्वामी रामदेव ने कहा- योगा फॉर सेल्फ व सोसाइटी ही नहीं अपितु योगा फॉर यूनिवर्स, युग के लिए योग है

योग ऋषि स्वामी रामदेव महाराज तथा आचार्य बालकृष्ण महाराज के दिशा निर्देशन में पतंजलि वैलनेस, पतंजलि योगपीठ-2 स्थित योगभवन सभागार में 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस ‘स्वयं और समाज के साथ यूनिवर्स के लिए योग’ विषय के साथ मनाया गया। इस अवसर पर स्वामी रामदेव महाराज ने कहा कि योग व योगमूलक इंटीग्रेटिड ट्रीटमेंट सिस्टम से साध्य-असाध्य रोगों को रिवर्स किया जा सकता है। योगा फॉर सेल्फ व सोसाइटी ही नहीं, योगा फॉर यूनिवर्स अर्थात युग के लिए योग है। पूरे विश्व का मॉडर्न मेडिकल सिस्टम व संसार की सरकारें जो नहीं कर पायी, वो सनातन धर्म मूलक योग से एक संन्यासी ने पतंजलि के माध्यम से करके दिखा दिया है। योग व योगमूलक इंटीग्रेटिड ट्रीटमेंट सिस्टम से असाध्य माने जाने वाले लिवर, किडनी, लंग्स, हार्ट आदि के रोगों को भी रिवर्स किया जा सकता है अर्थात रोगों को जड़ से खत्म किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि योग, प्राणायाम, सहज योग, एडवांस योग, योगा इन डेली लाइफ के साथ जीवन को सार्थक बनाएं। योग हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा है, हमारे जीवन की सभी समास्याओं का समाधान है, योग आत्मानुशासन, आत्मदर्शन, आत्म उपचार तथा आत्म साक्षात्कार है। उद्योग व जीवन और जगत की सभी समस्याओं का समाधन योग में निहित है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनियां में वैचारिक, राजनैतिक, आर्थिक संघर्ष व चुनौतियों का समाधान भी योगयुक्त जीवन ही है। योग से मानसिक व वैचारिक परिवर्तन होकर व्यक्ति समस्या नहीं, समाधन का हिस्सा बन जाता है। यहां आज रीयल वर्ल्ड एविडेंस के रूप में सैकड़ों लोग उपस्थित हैं जिन्होंने कैंसर, लीवर सिरोसिस, हेपेटाइटिस, इंपफर्टिलिटी, हार्ट ब्लॉकेज आदि असाध्य रोगों में लाभ मिला है। मेडिकल टर्मिनोलॉजी में कहें तो ये वे भाई-बहन हैं जिन्होंने विश्व कीर्तिमान रचा है, असंभव को संभव किया है। योग का प्रयोग करके आज जो परिणाम सामने आए हैं, वो प्रमाण बन गए हैं। उन्होंने कहा कि योगाभ्यास मात्रा शारीरिक व्यायाम या आसन, प्राणायाम की विधियां मात्र नहीं है अपितु जीवन दर्शन है जिससे तन, मन, जीवन व जगत की सभी समस्याओं का समाधन संभव है। बदलते प्रदूषित पर्यावरण, दोषपूर्ण जीवनशैली, खानपान व तनाव से उपजे सभी लाईफ स्टाईल डिसऑर्डर जैसे बी.पी., शुगर, मोटापा, अवसाद व क्षीण होती जीवनीय शक्ति का समग्र व स्थाई समाधन योग, आयुर्वेद व निसर्ग में ही सन्नि

Dainik Bhaskar झारखंड में महिलाओं को मिलेंगे हर महीने 1000 रुपए:25-50 साल की उम्र वाली महिलाओं को मिलेगा फायदा, अगस्त से खाते में आएंगे पैसे

झारखंड में महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए चंपाई सरकार महिलाओं के बैंक खाते में हर महीने एक हजार रुपए भेजेगी। सरकार की इस योजना का लाभ 40 लाख महिलाओं को मिलेगा। राज्य सरकार ने जल्द से जल्द इस योजना को लागू करने के लिए तैयारी तेज कर दी है। चंपाई सरकार 1 जुलाई से ‘मुख्यमंत्री बहन-बेटी स्वावलंबन प्रोत्साहन योजना’ शुरू करने की तैयारी में है। राज्य सरकार पश्चिम बंगाल की 'लक्ष्मी भंडार' योजना की तर्ज पर झारखंड में बहन बेटी स्वावलंबन योजना' की शुरुआत कर रही है। 25 से 50 वर्ष की आयु सीमा के बीच की महिलाओं को मिलेगी राशि इस योजना का फायदा 25 से 50 वर्ष की आयु सीमा के बीच की महिलाओं को मिलेगा। सरकार जल्द ही कैंप लगाकर इसके लिए आवेदन लेगी। जुलाई में आवेदन की प्रक्रिया पूरी करने की योजना है, जबकि अगस्त से इस योजना के माध्यम से महिलाओं के खाते में पैसे भेजने की शुरुआत हो सकती है। 4000 करोड़ से अधिक का खर्च झारखंड में इस योजना में आने वाले खर्च अनुमान के मुताबिक करीब 40 लाख महिलाएं इस योजना के दायरे में आएंगी। योजना पर सालाना करीब 4000 करोड़ रुपए से अधिक खर्च हो सकता है। चंपाई सोरेन ने झारखंड मंत्रालय में महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग की समीक्षा की। इस बैठक के बाद ही योजना पर फैसला लिया गया। अगस्त से महिलाओं को मिलने लगेगी राशि इस योजना में गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को शामिल करने का लक्ष्य है। आर्थिक रूप से कमजोर सभी वर्ग की गरीब एवं जरूरतमंद महिलाओं को वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस योजना के लिए एक वेबसाइट तैयार होगी। योजना के संबंध में सारी जानकारियां यहां दी जाएगी। मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने इसके लिए अधिकारियों को जल्द से जल्द योजना की रूपरेखा और रणनीति तैयार करने का आदेश दिया है। अगस्त तक इस योजना को लागू करने का समय रखा गया है। जानिए क्या है लक्ष्मी भंडार योजना पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने 2021 के विधानसभा चुनाव में लक्ष्मी भंडार योजना शुरू करने का वादा किया था। सत्ता में आने पर ममता बनर्जी की सरकार ने इसे लागू किया। सरकार इस योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन कर रहे परिवार की महिला को हर महीने नकद सहायता उपलब्ध कराती है।

Dainik Bhaskar तेजस्वी की सरकार को चुनौती-पीएस से पूछताछ कर लें:RJD ने शेयर की डिप्टी सीएम के साथ NEET पेपर लीक के मास्टरमाइंड की तस्वीर

नीट पेपर लीक केस में तेजस्वी के पीएस का नाम आने को लेकर नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मेरा सहायक हो, पीएस हो कोई हो बुलाकर पूछताछ कर लें। पूछताछ करने में क्या दिक्कत है। तेजस्वी ने कहा- मैं मुख्यमंत्री से कहता हूं कि मेरे सहायक को बुला लें और पूछताछ कर लें। लेकिन उपमुख्यमंत्री जो सवाल उठा रहे हैं, EOU ने तो इस बात को लेकर आज तक नहीं कहा है। इधर राजद ने सोशल मीडिया एक्स पर नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड अमित आनंद की डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के साथ फोटो शेयर की है। वहीं परीक्षा में हुई धांधली और एग्जाम रद्द करने की मांग को लेकर बिहार कांग्रेस ने पटना में प्रदर्शन किया है। जांच को भटकाने की कोशिश है विजय सिन्हा के आरोपों पर तेजस्वी ने कहा कि इन लोगों को ज्ञान नहीं है। हम मई से आवाज उठा रहे हैं कि कार्रवाई करनी चाहिए। ये लोग किंगपिन से ध्यान हटाना चाहते हैं। अमित आनंद और नीतीश कुमार कौन लोग हैं? इनको क्यों बचाना चाहते हैं? क्यों मुद्दे को भटकाया जा रहा है। कल मनोज झा ने तस्वीर साझा कर दी है। कोई दोषी है तो उसे बुलाकर पूछताछ करें। जो लोग मेरा नाम घसीटना चाहते हैं उससे कोई फायदा होने वाला नहीं है। तेजस्वी यादव ने कहा कि राज्य या केन्द्र सरकार हो, लगभग 50 लाख बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हुआ है। हमारी मांग रही है कि इसे रद्द करना चाहिए। बीजेपी शासित राज्यों में बिहार, गुजरात, हरियाणा तीनों जगह पेपर लीक हुआ है। इसलिए इसे बिना देरी के रद्द किया जाए। बीजेपी जब सत्ता में आती है, पेपर लीक होता है आगे नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बीपीएससी शिक्षक परीक्षा जो तीसरी बार हुई और रद्द हुई। जिन आरोपियों ने पेपर लीक कराया वो अब बेल पर बाहर हैं। हमको सब की जानकारी है। देश की जनता जानती है कि जब-जब बीजेपी सत्ता में आती है, तब-तब पेपर लीक होता है। तेजस्वी यादव ने कहा कि जब से प्रधानमंत्री आए हैं, बिहार में पुल गिर गया, ट्रेन हादसा हो गया। कुछ ना कुछ हो रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री हर मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। पटना में कांग्रेस का प्रदर्शन, नीट परीक्षा रद्द करने की मांग इधर, पटना के इनकम टैक्स गोलंबर पर नीट परीक्षा में धांधली को लेकर बिहार कांग्रेस के नेता प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसमें बिहार कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह भी शामिल हुए। उन्होंने डिप्टी सीएम विजय सिन्हा के आरोप पर कहा कि

Dainik Bhaskar दिल्ली जल संकट- आतिशी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर:राजघाट में शृद्धांजलि से शुरू किया अनशन; आरोप- हरियाणा, दिल्ली के हिस्से का पूरा नहीं दे रहा

हरियाणा से रोज 100 मिलियन गैलन पानी दिए जाने की अपनी मांग को लेकर दिल्ली की जल मंत्री आतिशी 21 जून से ​​​​​​अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल कर रही हैं। इससे पहले वे महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने राजघाट पहुंचीं। उनके साथ अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता, आप सांसद संजय सिंह और सौरभ भारद्वाज भी थे। आतिशी दक्षिण दिल्ली के भोगल में भूख हड़ताल करेंगी। उनका आरोप है कि हर कोशिश के बावजूद, हरियाणा सरकार दिल्ली के हिस्से का पूरा पानी नहीं छोड़ रही है। हड़ताल को पानी सत्याग्रह नाम दिया आतिशी ने अपनी इस हड़ताल को पानी सत्याग्रह बताया है। X पर एक पोस्ट में उन्होंने लिखा- मैं आज से पानी सत्याग्रह शुरू करूंगी। जब तक कि दिल्ली के लोगों को हरियाणा से पानी का उनका उचित हिस्सा नहीं मिल जाता, तब तक मैं भोगल, जंगपुरा में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर रहूंगी। आतिशी का दावा है कि पिछले दो हफ्ते से हरियाणा दिल्ली को प्रतिदिन 613 एमजीडी के मुकाबले 100 मिलियन गैलन कम पानी दे रहा है, जिसके कारण दिल्ली में 28 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। दिल्ली में भीषण गर्मी पड़ रही है, इसलिए पानी की मांग बढ़ गई है। सुनीत केजरीवाल बोलीं- उम्मीद है आतिशी की तपस्या सफल होगी अनशन बैठने के बाद दिल्ली CM केजरीवाल की पत्नी सुनीता ने कहा- हरियाणा सरकार से अपील करने के लिए दिल्ली की मंत्री आतिशी अनिश्चितकालीन समय के लिए सत्याग्रह करने जा रही हैं। वह कुछ भी नहीं खाएंगी, केवल पानी पिएंगी। वह दिल्ली के प्यासे लोगों के लिए ऐसा कर रही हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली के लोगों की पीड़ा को टीवी पर देखकर उन्हें बहुत दुख होता है। उन्हें उम्मीद है कि आतिशी की तपस्या सफल होगी और लोगों को कुछ राहत मिलेगी।

Dainik Bhaskar जम्मू-कश्मीर सहित 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव:ECI ने वोटर्स लिस्ट अपडेशन का आदेश दिया, 20 अगस्त डेडलाइन; साल के अंत में इलेक्शन होंगे

देश के 4 राज्यों महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर में इस साल विधानसभा चुनाव होंगे। चुनाव आयोग ने राज्यों में वोटर्स लिस्ट में अपडेशन को लेकर आदेश जारी कर दिया। यह काम 20 अगस्त तक पूरा होना है। वोटर्स डेटा अपडेशन के बाद चुनाव आयोग चारों राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को जम्मू-कश्मीर में इसी साल सितंबर तक चुनाव कराने का निर्देश दिया है। BJP ने 18 जून को चारों राज्यों के चुनाव प्रभारियों का ऐलान किया था BJP ने 18 जून को महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रभारी और सह-प्रभारियों का ऐलान कर दिया था। केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव को महाराष्ट्र का प्रभारी नियुक्त किया गया है। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव राज्य के सह-प्रभारी होंगे। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को हरियाणा का चुनाव प्रभारी और त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को राज्य का सह-प्रभारी बनाया गया है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान झारखंड के चुनाव प्रभारी और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा राज्य के सह-प्रभारी बनाए गए हैं। केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी को जम्मू-कश्मीर का प्रभारी नियुक्त किया गया है। BJP और I.N.D.I.A ब्लॉक के लिए अहम होंगे ये चुनाव लोकसभा चुनाव के बाद होने जा रहे ये विधानसभा चुनाव BJP और I.N.D.I.A ब्लॉक के लिए पहला लिटमस टेस्ट होगा। BJP ने इस बार लोकसभा चुनाव में 240 सीटें हासिल की हैं। जो बीते दोनों लोकसभा चुनावों में मुकाबले काफी कम हैं। 2019 में बीजेपी ने 303 और 2014 में 282 सीटें जीती थीं। बीजेपी को महाराष्ट्र और हरियाणा में अपनी सरकार बचानी है, वहीं झारखंड में उसे I.N.D.I.A ब्लॉक से अपनी सरकार वापस लेनी होगी। खासकर महाराष्ट्र में जहां RSS से जुड़ी एक पत्रिका ने अजित पवार के साथ भाजपा के गठबंधन की समझदारी पर सवाल उठाए हैं। भाजपा ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना और अजित पवार की NCP के साथ गठबंधन करके लोकसभा चुनाव लड़ा था। इन दोनों नेताओं ने भाजपा से हाथ मिलाने के लिए अपनी पार्टियों को तोड़ दिया था। कहा जा रहा है कि BJP ने सर्वे कराया है कि उसे महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव अकेले लड़ना चाहिए या महायुति के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ना चाहि

Dainik Bhaskar लखनऊ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प:NEET को लेकर प्रदर्शन, अजय राय को धक्का देकर बैरिकेडिंग से बाहर किया

NEET UG 2024 पेपर लीक को लेकर लखनऊ में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। कांग्रेस के यूपी प्रदेश अध्यक्ष अजय राय के साथ कार्यकर्ता विधानसभा जा रहे थे। पुलिस ने कांग्रेस कार्यालय के पास ही बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। इससे भड़के कार्यकर्ता बैरिकेडिंग पर चढ़ गए। पुलिस से धक्का-मुक्की करने लगे। अजय राय भी बैरिकेडिंग कूद कर आगे बढ़े तो पुलिस ने पकड़ लिया। उनकी पुलिस से झड़प हो गई। पुलिस ने उन्हें धक्का देकर बैरिकेडिंग के पार कर दिया। प्रदर्शन उग्र होता देख पुलिस ने अजय राय के साथ करीब 100 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया और ईको गार्डन लेकर गई। अजय राय ने कहा- गिरफ्तार कर लिया गया, देखिये कहां लेकर जाएंगे। हम छात्रों के हितों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने जबरन हमको गाड़ियों में भर दिया। हमारी मांग है कि नीट की परीक्षा दोबारा कराई जाए और केंद्रीय शिक्षा मंत्री इस्तीफा दें। अखिलेश ने भी पेपर लीक पर सरकार को घेरा, कहा- FIR की कॉपी सार्वजनिक हो सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म X पर लिखा- ये आरोप बेहद गंभीर है कि पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर आयोजित करवाने वाली गुजरात की कंपनी का ही, पेपर लीक करवाने में हाथ है। उसका मालिक जब विदेश भाग गया, तब उप्र सरकार ने उसके बारे में जनता को बताया। जनता के ग़ुस्से से बचने के लिए दिखाने भर के लिए उस कंपनी को ब्लैक लिस्ट कर दिया। उप्र सरकार उस कंपनी और उसके मालिक के खिलाफ FIR की कॉपी सार्वजनिक करे। गुजरात भेजकर उसकी संपत्ति से खामियाजा वसूलने की हिम्मत दिखाए। ऐसे आपराधिक लोग उप्र के 60 लाख युवाओं के भविष्य को बर्बाद करने के दोषी हैं। उप्र की भाजपा सरकार साबित करे कि वो इन अपराधियों के साथ है या प्रदेश की जनता के साथ।

Dainik Bhaskar न्यूज इन ब्रीफ@11 AM:PM ने श्रीनगर में योग किया; केजरीवाल की जमानत के खिलाफ HC पहुंची ED; PAK में कुरान के अपमान पर जिंदा जलाया

नमस्कार, आइए जानते हैं आज सुबह 11 बजे तक की देश-दुनिया की 10 बड़ी खबरें… 1. PM ने श्रीनगर में योग किया; दो दिन के जम्मू-कश्मीर दौरे पर, सितंबर में चुनाव होंगे आज 10वां योग दिवस है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीनगर में योग किया। पहले यह कार्यक्रम डल झील के किनारे 6:30 बजे होना था, लेकिन बारिश की वजह से इसे हॉल में शिफ्ट कर दिया गया। यह करीब 8 बजे शुरू हो पाया। इसमें 7 हजार लोगों को शामिल होना था, लेकिन हॉल में शिफ्ट होने के कारण सिर्फ 50 लोग शामिल हुए। PM मोदी दो दिन के दौरे पर जम्मू-कश्मीर में हैं। चुनाव आयोग सितंबर में जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव करवाने की तैयारियां कर रहा है। यहां 2014 में आखिरी बार चुनाव हुए थे। पढ़ें पूरी खबर... 2. जून में अब तक 17% कम बारिश हुई, MP-UP समेत 7 राज्यों में मानसून 4 दिन बाद 10 दिन थमे रहने के बाद गुरुवार 20 जून को मानसून ओडिशा, छत्तीसगढ़ और गुजरात में पहुंच गया है। अगले चार दिनों में यह मध्य प्रदेश, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में पहुंच सकता है। देश में अब तक (1 से 20 जून तक) 77 मिमी बारिश हुई। यह इस दौरान होने वाली बारिश से 17% कम है। 1 से 20 जून तक देश में 92.8 मिमी बारिश हो जाती है। पढ़ें पूरी खबर... 3. केजरीवाल की जमानत के खिलाफ ED ने HC में याचिका लगाई, आज हो सकते हैं रिहा राउज एवेन्यू कोर्ट ने गुरुवार, 20 जून शाम 8 बजे दिल्ली शराब नीति घोटाले के मनी लॉन्ड्रिंग केस में सीएम अरविंद केजरीवाल को जमानत दे दी। वे आज शाम तक जेल से बाहर आ जाएंगे। उधर, ED ने जमानत के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगा दी है। इससे पहले ईडी ने कोर्ट में कहा था कि जमानत पर 48 घंटे का स्टे लगाया जाए, लेकिन वेकेशन बेंच ने इससे इनकार कर दिया। केजरीवाल को 21 मार्च को अरेस्ट किया गया था। 1 अप्रैल को वे तिहाड़ जेल भेजे गए। सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को उन्हें अंतरिम जमानत दी थी। जमानत पर 21 दिन बाहर रहने के बाद 2 जून की शाम 5 बजे केजरीवाल ने तिहाड़ में सरेंडर किया था। वे 3 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में थे। पढ़ें पूरी खबर... 4. नड्‌डा 6 महीने और भाजपा अध्यक्ष रह सकते हैं, 4 राज्यों में होने हैं विधानसभा चुनाव भारतीय जनता पार्टी (BJP) इस साल 4 राज्यों महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर के विधानसभा चुनाव तक जेपी नड्‌डा को अध्यक्ष बनाए रख सकती है

Dainik Bhaskar NEET पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई:CBI जांच से कोर्ट ने किया था इनकार;23 जून को 1563 कैंडिडेट्स का दोबारा एग्जाम

NEET एग्जाम में पेपर लीक, 1563 कैंडिडेट्स को दिए ग्रेस मार्क्स और एग्जाम सेंटर पर हुई गड़बड़ियों को लेकर आज वेकेशन बेंच सुनवाई करने जा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच की मांग खारिज की 19 जून को NEET मामले पर एक सुनवाई के दौरान जस्टिस विक्रम नाथ और और जस्टिस संदीप मेहता की वेकेशन बेंच ने NEET काउंसलिंग पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। बेंच ने केस में CBI जांच की मांग को खारिज किया और कहा था कि सभी पक्षों को सुने बगैर हम CBI जांच का आदेश नहीं दे सकते। 9 छात्रों ने एग्जाम के बाद लगाई थी याचिका NEET मामले में पहली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट ने 10 जून को की थी। NEET काउंसलिंग पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। ये याचिका स्‍टूडेंट शिवांगी मिश्रा और 9 अन्य छात्रों ने रिजल्ट की घोषणा से पहले 1 जून को दायर की थी। इसमें ब‍िहार और राजस्‍थान के एग्‍जाम सेंटर्स पर गलत क्‍वेश्‍चन पेपर्स बंटने के चलते हुई गड़बड़ी की शिकायत की गई थी और परीक्षा रद्द कर SIT जांच की मांग की गई थी। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने परीक्षा कराने वाली संस्था नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी NTA को नोटिस जारी करते हुए कहा- NEET UG की विश्वसनीयता प्रभावित हुई है। हमें इसका जवाब चाहिए। अगली सुनवाई 8 जुलाई को होगीजस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस अहसानुद्दीन अमानुल्लाह की वैकेशन बेंच ने मामले की सुनवाई की। अब इस मामले की अगली सुनवाई 8 जुलाई को होगी। धर्मेन्द्र प्रधान-एग्जाम को जीरो एरर बनाया जाएगा NEET एग्जाम विवाद पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, 'NEET एग्जाम के साथ समझौता नहीं होगा। एग्जाम को जीरो एरर बनाया जाएगा।' NTA के लिए हाई लेवल कमेटी गठित होगी, जो इसको और बेहतर करने की सिफारिश करेगी। शिक्षा मंत्री ने बताया, 'टेक्‍नोक्रेट्स, साइंटिस्‍ट्स, एकेडमिशियन, साइकोलॉजिस्‍ट बैकग्राउंड के लोगों को मिलाकर सरकार कमेटी बनाएगी। जल्‍द ही इसे नोटिफाई किया जाएगा। ये कमेटी NTA के स्‍ट्रक्‍चर, फंक्‍शनिंग, एग्‍जाम प्रोसेस, ट्रांसपेरेंसी, ट्रांसफर और डेटा, सिक्‍योरिटी प्रोटोकॉल को और इम्प्रूव करने के लिए काम करेगी।' NTA जारी कर चुका है NEET रीएग्‍जाम एडमिट कार्ड NTA ने NEET UG रीएग्‍जाम का एडमिट कार्ड भी जारी कर दिया है। NEET रिजल्‍ट में ग्रेस मार्क्‍स पाने वाले 1563 कैंडिडेट्स के लिए 23 जून को रीएग्‍जाम आयोजित किया जाएगा। इस परीक

Dainik Bhaskar झूला ब्रांड ऑयल कारोबारी झुनझुनवाला पर ED की रेड:वाराणसी समेत 7 राज्यों में 10 ठिकानों पर पहुंची टीम, फाइलें और कंप्यूटर कब्जे में लिए

वाराणसी के उद्योगपति दीनानाथ झुनझुनवाला के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की। उनके वाराणसी स्थित आवास समेत 7 राज्यों के 10 ठिकानों पर सुबह 7 बजे एक साथ छापेमारी की गई। किसी को भी अंदर-बाहर जाने की इजाजत नहीं है। सभी के मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं। बाहर पुलिस के जवान भी तैनात हैं। झुनझुनवाला के खिलाफ 2019 में सीबीआई ने करीब 900 करोड़ के बैंक फ्रॉड का केस दर्ज किया था। फिर, मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर ED की एंट्री हुई थी। सूत्रों के मुताबिक, ED ने दो लैपटॉप और कई फाइलों को कब्जे में लिया है। दीनानाथ झुनझुनवाला 4 से 5 दशक पहले फेरी लगाकर कपड़ा बेचते थे। बाद में उन्होंने झूला ब्रांड डालडा (वनस्पति तेल) बनाना शुरू किया, जो यूपी-बिहार में काफी मशहूर रहा है। अभी क्या कार्रवाई चल रही? दीनानाथ झुनझुनवाला का आवास वाराणसी में नाटी इमली में है। ED की एक टीम शुक्रवार सुबह 7 बजे आवास पहुंची। वहीं, 2 टीमों ने आशापुर और हिरामन की ऑयल मिल में छापा मारा। दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब और उत्तराखंड समेत देश में झुनझुनवाला के 10 ठिकानों पर दस्तावेजों को खंगाला जा रहा है। क्यों हो रही कार्रवाई? दीनानाथ झुनझुनवाला पर पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा से करीब 900 करोड़ का फ्रॉड करने का आरोप है। झुनझुनवाला और उनके परिवार ने 11 बैंकों से करोड़ों का लोन लिया था। लेकिन, अब तक लौटाया नहीं है। उनकी कंपनी जेवीएल एग्रो इंडस्ट्रीज लिमिटेड सबसे बड़ी कर्जदार है। आरोप है कि बैंकर्स से मिली भगत कर लोन लिए और उसे लौटाया नहीं। खास बात यह है कि स्टॉक और बैलेंस शीट की गलत जानकारी देने के बावजूद बैंकों ने करोड़ों की क्रेडिट लिमिट दे दी थी। जेवीएल एग्रो पर बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक समेत देशभर की अलग-अलग बैंक शाखाओं से बड़ा लोन लिया था। 2019 में सीबीआई ने जेवीएल एग्रो पर केस दर्ज किया था। सीबीआई केस के आधार पर ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। जौनपुर के नाऊपुर में खोली थी फैक्ट्री, फिर विदेशों में फैलाया कारोबार दीनानाथ झुनझुनवाला बिहार में भागलपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने वाराणसी में BHU से ग्रेजुएशन किया था। शुरुआत में दीनानाथ फेरी लगाकर कपड़े बेचते थे। फिर, बिस्किट फैक्ट्री खोली। 17 नवंबर 1989 को झुनझुनवाला ने वनस्पति लिमिटेड नाम से कंपनी बनाई, जिसे ज

Dainik Bhaskar तमिलनाडु शराब कांड, मरने वालों में 24 एक गांव के:एकसाथ कई चिताएं जलीं; अन्नामलाई ने शाह को लेटर लिखकर CBI जांच की मांग की

तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में जिन 39 लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है। उसमें से 24 एक ही गांव करुणापुरम के थे। घटना के बाद से गांव में मातम छाया है। सभी मृतकों की एक साथ 20 जून की देर शाम अंतिम संस्कार किया गया। इस घटना में किसी ने अपना बेटा खोया तो किसी ने पिता, किसी ने भाई को किसी ने रिश्तेदार। जहरीली शराब के कारण अपने बेटे को खोने वाली एक महिला ने रोते हुए बताया कि बेटे को पेट में बहुत दर्द था। वो ठीक से अपनी आंखें भी नहीं खोल पा रहा था। जब हम उसे अस्पताल लेकर पहुंचे थे तो शुरुआत में उसे भर्ती भी नहीं किया गया था। कहा गया था कि बेटा नशे में है। और फिर बेटे की बाद में जान चली गई। महिला ने आगे कहा कि सरकार को शराब की दुकानें बंद कर देनी चाहिए। घटना के 100 से ज्यादा पीड़ितों कल्लाकुरिची सरकारी मेडिकल कॉलेज के अलावा दूसरे अस्पतालों में इलाज जारी है। सभी को सांस लेने में दिक्क्त, कम दिखाई देने और शरीर में तेज दर्द की शिकायत है। अन्नामलाई ने शाह को लेटर लिखा, CBI जांच की मांग की कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने कल्लाकुरिची की घटना पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लेटर लिखा। उन्होंने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। वहीं, राज्य सरकार घटना की जांच CID से कराने का आदेश दे चुकी है। अन्नामलाई ने लेटर में लिखा, 'मई 2023 में तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले के मरक्कनम और चेंगलपट्टू जिले में हुई इसी तरह की घटना में 23 लोगों की जान चली गई थी। पिछले 2 साल में डीएमके सरकार के अप्रभावी शासन के कारण शराब की वजह से 60 से अधिक लोगों की जान चली गई है।" इसके साथ ही अन्नामलाई ने राज्य की DMK सरकार पर घटना में शामिल होने का आरोप लगाया। कहा कि DMK के लोगों की स्थानीय शराब विक्रेताओं से मिलीभगत है। पार्टी के लोगों के इशारे पर अवैध शराब बनाई जा रही है और बेची जा रही है। उन्होंने दावा किया कि शराब बेचने के ठिकाने कोर्ट, पुलिस स्टेशन और अन्य सरकारी कार्यालयों के पास मौजूद है। वहीं, मृतकों के परिजनों का कहना है कि शहर के प्रमुख ठिकानों पर अवैध शराब की बिक्री होती है। तमिलनाडु भाजपा सभी पीड़ित परिवारों को 1 लाख रुपए की आर्थिक मदद करेगी। अन्नामलाई ने कहा है कि अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने इस मामले में हमें रिपोर्ट सौंपने का कहा है। अन्नामलाई

Dainik Bhaskar भास्कर अपडेट्स:जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में कपड़े की दुकान में आग, फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां मौके पर

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर के गोल मार्केट में एक कपड़े की दुकान में गुरुवार देर रात आग लग गई। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। फिलहाल किसी के घायल होने की कोई सूचना नहीं है। फायर ब्रिगेड के अधिकारी ने बताया आग लगने का कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। जांच के बाद पूरी जानकारी साझा की जाएगी।

Dainik Bhaskar भास्कर ओपिनियन:नीट को क्लीन करने के लिए परीक्षा रद्द करना ही सही रास्ता

नीट परीक्षा में गड़बड़ी के कई क़िस्से सामने आ चुके हैं। पेपर लीक की कहानियाँ भी छन छनकर बाहर आ रही हैं लेकिन सरकार मानने को तैयार नहीं है। शिक्षामंत्री का ताज़ा बयान है कि बिहार से गड़बड़ी की शिकायत मिली है लेकिन फिलहाल नीट रद्द नहीं होगी। तीस लाख बच्चों के भविष्य का सवाल है। एक तरफ़ मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है और दूसरी तरफ बिहार से परीक्षा देने वाले एक छात्र ने क़बूल किया है कि उसे कोटा से बिहार बुलाकर प्रश्न दिए गए थे। उनके उत्तर भी रटवाए गए थे और हुबहू वही प्रश्न परीक्षा में आए थे। यह सब क़बूलनामा पुलिस के सामने का है। लेकिन सरकार मानने को तैयार नहीं है। हालाँकि इसमें सरकार का कोई क़सूर नहीं है। परीक्षा कराने वाली संस्था यानी एनटीए की गलती है और ये ग़लतियाँ मानने की बजाय एनटीए द्वारा कई दिनों तक बहाने बनाए जाते रहे। उस संस्था को दोषी बताकर लाखों बच्चों की मदद करने की बजाय सरकार अड़ी हुई है परीक्षा रद्द करने से बचने पर। ऊपर से सौ से डेढ़ सौ तक ग्रेस अंक तक देने का भी कोई गणित एनटीए अब तक समझा नहीं सका है। सरकार भी यह कहानी अब तक सामने नहीं ला पाई है जबकि सरकार के लिए तो यह सुनहरा मौक़ा है। लाखों बच्चों के भविष्य को संवारने के लिए तुरंत आगे आकर दोबारा नीट परीक्षा करानी चाहिए और उसमें गड़बड़ी नहीं हो सके, यह सुनिश्चित भी करना चाहिए। नई केंद्र सरकार को सबसेपहला बड़ा काम बच्चों के भविष्य को संवारने के साथ ही शुरू करना चाहिए। अगर ऐसा किया जाता है तो सरकार लाखों परिवारों का भला कर पाएगी और निष्पक्ष परीक्षा का मार्ग भी प्रशस्त हो सकेगा। आख़िर परीक्षाओं की विश्वसनीयता ही ख़तरे में पड़ी रहेगी तो पास हुए याउसमें सफल हुए बच्चों की क़ाबिलियत पर कोई कैसे भरोसा करेगा? फिर यह तो डॉक्टर के प्रोफ़ेशन से संबंधित परीक्षा है। इसमें गड़बड़ी का मतलब लोगों के सबसे क़ीमती स्वास्थ्य से खिलवाड़ करना होगा। कोविड के बाद देश के ज़्यादातर लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति बहुत सजग हो गए हैं। इसलिए देश के ज़्यादातर लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए नीट परीक्षा को रद्द करके नए सिरे से यह परीक्षा करानी चाहिए।

Dainik Bhaskar यूपी के 20 शहरों से गर्मी में मौतों की पड़ताल:17 दिन में 2100 से ज्यादा लाशों का पोस्टमॉर्टम, इनमें 414 लावारिस; वजह-हीट-ब्रेन स्ट्रोक

यूपी में इस बार गर्मी ने कहर बरपाया। 20 शहरों में सामान्य दिनों की तुलना में 4 गुना ज्यादा लावारिस लाशें मिलीं। पोस्टमॉर्टम हाउस में भी डेढ़ गुना से ज्यादा शवों का पोस्टमॉर्टम हुआ। बड़े शहरों वाराणसी, प्रयागराज और कानपुर में तो मॉर्च्युरी में शव रखने तक की जगह नहीं मिली। हमने सामान्य दिनों 1 से 17 मार्च और प्रचंड गर्मी वाले दिनों 1 से 17 जून के बीच का आंकड़ा निकाला। इसमें पोस्टमॉर्टम हाउस में पहुंचने वाले शवों (लावारिस भी) को भी शामिल किया। मार्च में 1 हजार 345 शवों के पोस्टमॉर्टम किए गए थे, जबकि जून में 2 हजार 136 पोस्टमॉर्टम। आशंका जताई जा रही है कि इतनी मौतें गर्मी की वजह (ब्रेन स्टोक और हार्ट अटैक) से हुईं। इस दौरान लावारिस लाशों की संख्या बेतहाशा बढ़ी। 1 से 17 मार्च के बीच 92 लावारिस लाशें मिलीं, जबकि 1 से 17 जून के बीच यह संख्या 414 रही। अब 3 बड़े शहरों वाराणसी, कानपुर और प्रयागराज से रिपोर्ट देखिए… वाराणसी में मॉर्च्युरी हाउसफुल; 17 दिन में हुए 183 पोस्टमॉर्टम, 48 अज्ञात वाराणसी में तापमान मई मध्य से जून मध्य तक 43 से 46 तक बना रहा। ऐसे में मौतों का सिलसिला भी जारी रहा। सरकारी अस्पतालों की मॉर्च्युरी से लेकर पोस्टमॉर्टम हाउस तक शवों की कतार लग गई। हर जगह क्षमता से अधिक शव पहुंचे। ऐसे में दैनिक भास्कर ने मंडलीय चिकित्सालय, जिला अस्पताल और पोस्टमॉर्टम हाउस की पड़ताल की। वाराणसी के पोस्टमॉर्टम हाउस के आंकड़े की बात करें तो 1 जून से 17 जून तक यहां 183 शवों का पोस्टमॉर्टम हुआ, जिसमें 48 शव लावारिस थे। गर्मी के प्रकोप से लगातार शवों के आने का सिलसिला जारी है। यहां लोग शवों को लेने के लिए कतार में खड़े हैं। उनका कहना है- बदबू से बहुत दिक्कत है और वेटिंग लंबी है। शिवपुर में बने पोस्टमॉर्टम हाउस में बड़ी संख्या में शव लाए जा रहे हैं। 15 की क्षमता वाली मॉर्च्युरी में 50 शवों के आने से इसे बाहर रखना पड़ रहा है। वहीं, मंडलीय चिकित्सालय की मॉर्च्युरी में मंगलवार को 17 शव थे। बुधवार को 12 शव रात 8 बजे लाए गए। शवों को एक कमरे में बंद कर दिया जाता है ताकि कोई जानवर उन तक न पहुंच सके। काशी के मणिकर्णिका घाट पर 30 मई को सामान्य दिनों की तुलना में तीन गुना यानी 400 से ज्यादा शव पहुंचे। यहां गलियों में रातभर जाम लगा रहा। भीड़ से व्यवस्थाएं ध्वस्त हो गईं। हमने घाट पर अंतिम संस्कार कराने

Dainik Bhaskar MP-UP समेत 7 राज्यों में मानसून 3-4 दिन में पहुंचेगा:अब तक जून में 77mm बारिश हुई, सामान्य से यह 17% कम

दक्षिण-पश्चिम मानसून 10 दिन थमे रहने के बाद गुरुवार 20 जून को कुछ राज्यों में पहुंचा। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, मानसून ओडिशा, छत्तीसगढ़ और विदर्भ के बड़े हिस्से में पहुंच गया है। मौसम विभाग का कहना है कि गुजरात के कुछ हिस्सों, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, ओडिशा के हिस्से, गांगेय और उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में 3-4 दिन में मानसून पहुंच सकता है। IMD ने ये भी बताया कि देश में अब तक (1 से 20 जून तक) 77 मिमी बारिश हुई। यह इस दौरान होने वाली बारिश से 17% कम है। 1 से 20 जून तक देश में 92.8 मिमी बारिश हो जाती है। मानसून: कहां पहुंचा, कहां अटका दक्षिण-पश्चिम मानसून निकोबार में 19 मई को पहुंच गया था। केरल में इस बार दो दिन पहले, यानी 30 मई को, ही मानसून पहुंच गया था और कई राज्यों को कवर भी कर गया। फिर 12 से 18 जून तक (6 दिन) मानसून रुका रहा। इसके चलते उत्तर भारत में हीटवेव चल रही है। मानसून 12 जून तक केरल, कर्नाटक, गोवा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना को पूरी तरह कवर कर चुका था। साथ ही दक्षिण महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्सों, दक्षिणी छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, दक्षिणी ओडिशा, उपहिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और सभी पश्चिमोत्तर राज्यों में पहुंच गया था। 18 जून तक मानसून गुजरात के नवसारी, महाराष्ट्र के जलगांव, अमरावती, चंद्रपुर, छत्तीसगढ़ के बीजापुर, सुकमा, ओडिशा के मलकानगिरी और आंध्र प्रदेश के विजयनगरम तक पहुंचा है। मौसम विभाग का अनुमान है कि जून में मानसून सामान्य से कम यानी 92% लंबी अवधि के औसत (LPA) से कम रहेगा। आम लोगों का जीवन कितना प्रभावित देश में इस सीजन हीटस्ट्रोक के 40 हजार मामले: हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, 1 मार्च से 18 जून तक करीब 41 हजार से ज्यादा हीटस्ट्रोक के केसेज रिकॉर्ड किए गए। वहीं, हीटवेव से 114 लोगों की मौत हुई है। इस बार हीटवेव के दिन औसत से दोगुने थे। मौसम विभाग ने इस महीने भी सामान्य से अधिक तापमान का अनुमान लगाया है। विभाग ने कहा है कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण देश में तेज गर्मी का असर अबतक देखने को मिल रहा है। असम में पार्क की सुरक्षा के लिए स्पेशल कमांडो: असम में बाढ़ के हालात खतरनाक हो गए हैं। यहां 15 जिलों में 1.62 लाख लोग और करीब 1 लाख जानवर प्रभावित हैं। काजीरंगा नेशनल पार्क में जानवरों की निगरानी के लिए CM हिमंता बि

Dainik Bhaskar मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ:केजरीवाल को जमानत; शिक्षा मंत्री बोले- NTA में सुधार के लिए हाईलेवल कमेटी बनाएंगे; सुपर-8 में चमके सूर्या और बुमराह

नमस्कार, कल की बड़ी खबर NEET और UGC NET एग्जाम विवाद से जुड़ी रही, इस मामले पर शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। वहीं राहुल गांधी ने पेपर लीक के मुद्दे पर सरकार को घेरा। लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर... अब कल की बड़ी खबरें... 1. शिक्षा मंत्री प्रधान बोले- NEET के साथ समझौता नहीं होगा; काउंसलिंग रोकने से SC का फिर इनकार शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘NEET के साथ समझौता नहीं होगा। एग्जाम को जीरो एरर बनाया जाएगा। NTA की कार्यप्रणाली में सुधार के लिए हाई लेवल कमेटी बनेगी, जो इसे और बेहतर करने की सिफारिश करेगी।' उधर, सुप्रीम कोर्ट ने NEET UG काउंसलिंग पर रोक लगाने से फिर इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि आखिरी सुनवाई के बाद परीक्षा कैंसिल होती है तो काउंसलिंग भी कैंसिल हो जाएगी। केंद्र ने बिहार EOU से रिपोर्ट मांगी: बिहार के डिप्टी CM विजय कुमार सिन्हा ने दावा किया है कि NEET पेपर लीक मामले के आरोपियों के लिए सरकारी गेस्ट हाउस तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार ने बुक कराया था। गेस्ट हाउस के एंट्री रजिस्टर में अनुराग यादव का नाम दर्ज है। अनुराग यादव को पुलिस ने नीट पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया था। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) से मामले की डिटेल रिपोर्ट मांगी है। केंद्र ने कहा- UGC-NET में गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिली: एजुकेशन मिनिस्ट्री के जॉइंट सेक्रेटरी गोविंद जायसवाल ने कहा, 'हमें UGC-NET में गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिली थी, बल्कि स्टूडेंट के हितों को सुरक्षित रखने के लिए हमने खुद से संज्ञान लिया है। हमें एग्जाम में गड़बड़ी होने के इनपुट्स मिले थे। जल्द ही रीएग्जाम की तारीख का ऐलान किया जाएगा।' हालांकि धर्मेंद्र प्रधान के मुताबिक, UGC NET के सवाल डार्क वेब पर आ गए थे, जिस वजह से एग्जाम रद्द कर दिया गया। पूरी खबर यहां पढ़ें... 2. राहुल ने कहा- हर परीक्षा में धांधली हो रही है; मोदी का 56 इंच का सीना अब 32-35 हो गया NEET और NET-UGC एग्जाम विवाद को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘कहा जा रहा था कि मोदी जी ने रूस-यूक्रेन युद्ध रोक दिया, लेकिन कुछ कारणों से नरेंद्र मोदी पेपर लीक रोक नहीं पाए हैं या रोकना नहीं चाहते। पहले P