Dainik Bhaskar Dainik Bhaskar

Dainik Bhaskar बड़ी चुनौती-भारत में दुनिया की 17% आबादी और पानी 4%:रिपोर्ट में दावा- देश के 50% जिलों में 2050 तक गंभीर जल संकट हो सकता है

दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाले देश भारत में जल संकट का गंभीर खतरा है। देश के कृषि क्षेत्र में जल प्रबंधन को बढ़ावा देने से जुड़ी एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2050 तक भारत के 50% से ज्यादा जिलों में पानी का विकट संकट हो सकता है। डीसीएम श्रीराम और सत्व नॉलेज की एक रिसर्च रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2050 तक देश में प्रति व्यक्ति जल की मांग में 30% की बढ़ोतरी होने की संभावना है, जबकि देश की बढ़ती आबादी और जल संसाधनों की कमी के चलते प्रति व्यक्ति जल की उपलब्धता में 15% की कमी आ सकती है। पानी की बढ़ती मांग और सप्लाई में कमी के चलते संतुलन बिगड़ने की संभावना है। इसी कारण 2050 तक देश के 50% जिलों में पानी का भयंकर संकट खड़ा हो सकता है। चुनौती: कृषि सेक्टर में सबसे ज्यादा पानी इस्तेमाल होता है रिपोर्ट के मुताबिक देश में जल संकट के पीछे कृषि सेक्टर बड़ी वजह है। कृषि प्रधान देश होने के कारण देश के कुल जल का 80 से 90% हिस्सा खेती में इस्तेमाल होता है। इसके बाद घरेलू उपयोग और इंडस्ट्री सेक्टर में जल का प्रयोग होता है। यह ट्रेंड 2025 से लेकर 2050 तक भी जारी रहने का अनुमान है। सलाह: कुशल सिंचाई के द्वारा जल बचाने की जरूरत भारत के कुल फसल उत्पादन का 90% हिस्सा 3 प्रमुख फसलों- धान, गन्ना और गेहूं का है। देश के अधिकांश किसान सतही सिंचाई का इस्तेमाल करते हैं, जिसमें जल उपयोग की दक्षता 35% ही होती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर सिंचाई जल का दक्षता से उपयोग किया जाए, तो 20% पानी को बचा सकते हैं। ट्रांसफॉर्मिंग क्रॉप कल्टीवेशन: एडवांस वाटर इफिशिएंसी इन इंडियन एग्रीकल्चर रिपोर्ट के अनुसार, भारत में दुनिया की 17% आबादी है, लेकिन हमारे पास दुनिया के पानी के सिर्फ 4% संसाधन ही हैं। प्रति व्यक्ति जल की उपलब्धता को मापने वाले फ्लेंकेनमार्क इंडेक्स के मुताबिक प्रति व्यक्ति 1700 क्यूबिक मीटर से कम पानी वाले इलाकों को जल संकट से ग्रस्त माना गया है। इस इंडेक्स के हिसाब से 76% भारतीयों के पास अभी भी पर्याप्त पानी उपलब्ध नहीं है। ये खबरें भी पढ़ें... बेंगलुरु में पानी की कमी, 3 हजार बोरवेल्स सूखे बेंगलुरु शहर पानी की भारी किल्लत से जूझ रहा है। कर्नाटक के डिप्टी CM डीके शिवकुमार ने मार्च में कहा था कि शहर में 3 हजार से अधिक बोरवेल सूख गए हैं, जिनमें उनके घर का बोर भी शामिल है। वहीं शहर

Dainik Bhaskar गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का झारखंड कनेक्शन:पलामू जेल में बंद अमन साहू गैंग को सप्लाई कर रहा हथियार और शूटर्स; NIA का खुलासा

जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके सहयोगियों का झारखंड कनेक्शन सामने आया है। यह कनेक्शन झारखंड के कुख्यात अपराधी अमन साहू के साथ है। इस बात का खुलासा एनआईए ने किया है। विभिन्न मामलों की जांच कर रही एनआईए ने पाया कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का अमन साहू के साथ संपर्क है। वह यहां अमन के साथ मिलकर गैंग चला रहा है। कैसे हुआ संपर्क, चल रही जांच हालांकि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और कुख्यात अपराधी अमन साहू दोनों जेल में बंद हैं। इसके बाद भी ये एक-दूसरे के संपर्क में कैसे आए, इसका खुलासा अभी नहीं हो सका है। एनआईए इसकी भी जांच कर रही है। एनआईए इस बात को पता करने में जुटी है कि दोनों अपराधियों के बीच संपर्क कराने वाला सूत्रधार कौन है। लेवी और रंगदारी के लिए कुख्यात है अमन अमन साहू लेवी और रंगदारी वसूली के लिए कुख्यात है। उसके गिरोह के कई सदस्य कोयला कारोबारियों, बिल्डरों, ट्रांसपोर्टरों और कारोबारियों से रंगदारी वसूल रहा है। अमन खुद भी खुलासा कर चुका है कि उसका लॉरेंस बिश्नोई से संबंध है। सोशल मीडिया पर अक्सर बातें होती हैं। उसका संबंध लॉरेंस के छोटे भाई अनमोल बिश्नोई के साथ भी है। अब एनआईए यह जांच कर रही है कि क्या अमन साहू गिरोह बिश्नोई गिरोह को हथियार के साथ शूटर भी उपलब्ध करा रहा है। टीपीसी के संपर्क में भी रहा है अमन अमन साहू उग्रवादी संगठन टीपीसी के संपर्क में भी रहा है। वह पलामू में टीपीसी के राजन जी उर्फ मुन्ना, उमेश यादव, रमेश यादव, मनोज सिंह, आशीष कुजूर, बिराज जी उर्फ राकेश गंझू के संपर्क में रहा है। इसके अलावा वह झारखंड जन मुक्ति मोर्चा, पीएलएफआई और झांगुर ग्रुप के साथ भी काम कर चुका है। फिलहाल अमन साहू पलामू जेल में बंद है।

Dainik Bhaskar इनर मणिपुर सीट के 11 बूथों पर आज दोबारा वोटिंग:यहां 19 अप्रैल को हिंसा हुई थी; राज्य की दो सीटों पर 72% मतदान हुआ था

मणिपुर में इनर मणिपुर लोकसभा क्षेत्र के 11 मतदान केंद्रों पर 22 अप्रैल को फिर से वोटिंग होगी। चुनाव आयोग ने शनिवार (20 अप्रैल) को इसे लेकर आदेश जारी किया। इन बूथों पर 19 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के फर्स्ट फेज में वोटिंग के दौरान हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी। सुबह 7 बजे से शुरू हुई वोटिंग शाम 5 बजे तक चलेगी। जिन 11 बूथों पर दोबारा वोटिंग हो रही, उनमें ​​​​साजेब, खुरई, थोंगम, लेइकाई बामन कंपू (नॉर्थ-ए), बामन कंपू (नॉर्थ-बी), बामन कंपू (साउथ-वेस्ट), बामन कंपू (साउथ-ईस्ट), खोंगमान जोन-V(ए), इरोइशेम्बा, इरोइशेम्बा ममांग लेइकाई, इरोइशेम्बा मयाई लेइकाई और खैदेम माखा शामिल हैं। आज वोटिंग के दौरान हिंसा न हो इसके लिए चुनाव आयोग ने इन बूथों पर सुरक्षाबलों की अतिरिक्त तैनाती की है। हिंसा प्रभावित मणिपुर की दोनों लोकसभा क्षेत्र- इनर और आउटर मणिपुर सीट के लिए 19 अप्रैल को 72 फीसदी वोटिंग हुई थी। EVM में तोड़फोड़ और बूथ कैप्चरिंग हुई थी राज्य में पिछले साल से जारी हिंसा में 200 से ज्यादा मौतें मणिपुर में पिछले साल 3 मई से कुकी और मैतेई समुदाय के बीच आरक्षण को लेकर हिंसा चल रही है। आउटर मणिपुर सीट के हिंसा प्रभावित इलाकों के कुछ बूथ पर 26 अप्रैल को दूसरे फेज में भी मतदान होगा। राज्य में कुकी संगठनों ने कुछ दिन पहले लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया था। उन्होंने न्याय नहीं तो वोट भी नहीं का नारा लगाया था। राज्य में अब तक हुई हिंसा की घटनाओं में 200 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। 1100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। 65 हजार से ज्यादा लोग अपना घर छोड़ चुके हैं। मणिपुर में BJP सबसे बड़ी पार्टी, NPP-NPF से अलायंस मणिपुर में BJP सबसे बड़ी पार्टी है। उसने राज्य की लोकल पार्टियों- नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) और नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) के साथ अलायंस किया है। BJP ने सिर्फ इनर मणिपुर पर कैंडिडेट उतारा है। आउटर मणिपुर में वह NPF को सपोर्ट कर रही है। 2019 के लोकसभा चुनाव में BJP ने दोनों सीटों पर कैंडिडेट उतारे थे। पार्टी को सिर्फ इनर मणिपुर सीट पर जीत मिली थी। आउटर मणिपुर में NPF ने BJP को हरा दिया था। कांग्रेस ने दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारे दूसरी तरफ, कांग्रेस ने दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। पार्टी ने इनर मणिपुुर से प्रो. अकोइजाम बिमोल और आउटर मणिपुर से अल्फ्रेड के आर्थर को टिकट दिया है।

Dainik Bhaskar तिरुमाला तिरूपति देवस्थानम‎ दुनिया का सबसे अमीर मंदिर ट्रस्ट:1161 करोड़‎ की एफडी कराई, बैंक बैलेंस बढ़कर 18,817 करोड़ हुआ; 11 टन सोना भी‎

दुनिया के सबसे अमीर मंदिर ट्रस्ट ‎‎तिरुमाला तिरूपति देवस्थानम ‎(टीटीडी) ने इस साल 1161 करोड़ ‎रुपए की एफडी कराई है। पिछले 12 ‎सालों में यहां सबसे ज्यादा है। यह ट्रस्ट दुनिया का सबसे अमीर‎ मंदिर ट्रस्ट है। रिपोर्ट के अनुसार, ट्रस्ट‎ देश का एकमात्र हिंदू धार्मिक ट्रस्ट है,‎ जो पिछले 12 सालों में साल दर साल ‎‎लगातार 500 करोड़ रुपए या उससे‎ ज्यादा की रकम जमा कर रहा है।‎ 2012 तक, ट्रस्ट का फिक्स डिपॉजिट ‎‎4820 करोड़ रुपए था।‎ इसके बाद तिरुपति ट्रस्ट ने 2013 ‎से 2024 के बीच 8467 करोड़ रुपए ‎की रकम जमा की है। यह देश के ‎किसी भी मंदिर ट्रस्ट के लिए सबसे ‎ज्यादा है। ट्रस्ट की बैंकों में कुल‎एफडी 13,287 करोड़ रुपए हो गई है।‎ इसके अलावा मंदिर ट्रस्ट की ओर से ‎संचालित कई ट्रस्ट जिसमें श्री ‎वेंकटेश्वर नित्य अन्नप्रसादम ट्रस्ट, श्री‎ वेंकटेश्वर प्राणदानम ट्रस्ट आदि है,‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎‎ जिन्हें भक्तों से पर्याप्त दान मिलता है।‎ उनकी करीब 5529 करोड़ रुपए की‎फिक्स डिपॉजिट हो गई है।‎ बैंक बैलेंस बढ़कर 18817 करोड़ रुपए पहुंचा सभी बैंकों और ट्रस्टों में तिरुपति‎ ट्रस्ट की नकदी 18817 करोड़ रुपए ‎तक हो गई है। जो इतिहास में अब ‎तक की सबसे बड़ी रकम है। ट्रस्ट अपनी एफडी पर ब्याज के ‎रूप में सालाना लगभग 1,600 करोड़‎ रुपए की राशि कमाता है। इसके‎ अलावा हाल ही में 1,031 किलोग्राम ‎सोने की जमा के बाद, बैंकों में मंदिर‎ का सोना भंडार भी बढ़कर 11,329‎ किलोग्राम हो गया है।‎ 2012 में ट्रस्ट की एफडी 4820 करोड़ रुपए ​थी‎ साल दर साल तिरुपति ट्रस्ट की ‎फिक्स डिपॉजिट में बढ़ोतरी हो रही ‎है। 2013 में 608 करोड़, 2014 में ‎970 करोड़, 2015 में 961 करोड़,‎ 2016 में 1153 करोड़, 2017 में‎ 774 करोड़, 2018 में 501 करोड़‎ की एफडी हुई थी। पिछले 12 सालों‎ में पहली बार कोरोना काल में‎ एफडी की राशि घट गई थी। 2019‎ में 285 करोड़, 2020 में 753‎ करोड़, 2021 में 270 करोड़,‎ 2022 में 274 करोड़ की एफडी‎ हुई थी। पिछले साल ट्रस्ट ने 757 ‎करोड़ की एफडी कराई थी।‎ तिरुपति मंदिर से जुड़ी कुछ खास बातें... यहां बालों का दान किया जाता है : मान्यता है कि जो व्यक्ति अपने मन से सभी पाप और बुराइयों को यहां छोड़ जाता है, उसके सभी दुःख देवी लक्ष्मी खत्म कर देती हैं। इसलिए यहां अपनी सभी बुराइयों और पापों के रूप में लोग अपने बाल छोड़

Dainik Bhaskar योगी सरकार में मंत्री डॉ. संजय निषाद पर हमला:नाक पर चोट लगी, पट्‌टी कराकर धरने पर बैठे; यादवों पर हमले का आरोप

संतकबीर नगर में कैबिनेट मंत्री डॉ. संजय निषाद पर 20-25 लोगों ने हमला किया। नाक पर चोट लगने के बाद ब्लीडिंग होने लगी। समर्थक उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। पट्‌टी कराई। इसके बाद संजय निषाद अस्पताल और पुलिस चौकी के बाहर धरने पर बैठ गए। वहां प्रवीण निषाद समेत निषाद पार्टी के 3 विधायक भी पहुंचे हैं। भारी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थक भी पहुंच रहे हैं। 100 से ज्यादा लोग धरना स्थल पर हैं। सपा मुर्दाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं। संजय निषाद ने सपा और यादवों पर हमले का आरोप लगाया है। मामले में पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया। घटना शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहम्मदपुर कठार गांव की है। पहले बहस फिर हमला दरअसल, संजय निषाद का बेटा प्रवीण संत करीब नगर से ही सांसद है। NDA गठबंधन ने दोबारा प्रवीण को यहां से उतारा है। मोहम्मदपुर कठार गांव यादव बाहुल्य है। यहां का प्रधान भी यादव है। संजय निषाद रविवार रात को यहां एक शादी में पहुंचे थे। तभी 20-25 लोग प्रवीण निषाद को लेकर उल्टा-सीधा बोलने लगे। इसको लेकर संजय और उन लोगों की बहस होने लगी। धीरे-धीरे बात बढ़ गई।उन लोगों ने संजय और उनके समर्थकों पर हमला कर दिया। संजय निषाद ने सपा पर साधा निशाना संजय निषाद ने बताया, मैं निषाद समुदाय का नेतृत्व करता हूं। मेरे जितने कार्यकर्ता हैं, उनके यहां शादी कार्यक्रम में जरूर जाता हूं। रविवार को मोहम्मदपुर कठार गांव में मेरे कार्यकर्ता की शादी थी। उसमें मेरी पत्नी को जाना था, लेकिन वह नहीं जा पाईं। इसलिए मुझे आना पड़ा। हम लोग यहां पर आए। तभी लोगों ने कहा कि मंत्री जी जयमाल हो जाए, तब जाइएगा। तो मैं 10 मिनट रुक गया। तभी पीछे से कुछ लोग मेरे सांसद बेटे और पार्टी के खिलाफ अमर्यादित बातें बोलने लगे। मैंने सोचा हमारी बिरादरी के लोग होंगे समझा देते हैं। उन लोगों को आगे लाकर बैठा दिया। हमने उनसे कहा कि सांसद जी आएंगे तो उनसे बात कर लीजिएगा। वह लोग हमसे कहने लगे कि तुम मंत्री हो तुमने क्या किया। हमने कहा कि थोड़ा ठीक से बात करो। इतना बोलने के बाद उन लोगों ने हम पर हमला बोल दिया। जिसमें मेरा चश्मा टूट गया। नाक पर चोट लग गई। उन लोगों की संख्या बल ज्यादा थी। हमलावर यादव थे। नाम तो मैं नहीं लूंगा। करीब 20-25 लोग थे। अब मैं जब से आया हूं तब से लोग जातीय संघर्ष करवा रहे हैं।" उन्होंने अपनी सुरक्षा को लेकर

Dainik Bhaskar लोकसभा चुनाव-2024:इनर मणिपुर सीट के 11 बूथों पर दोबारा वोटिंग, 19 अप्रैल को हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी

मणिपुर में इनर मणिपुर लोकसभा क्षेत्र के 11 मतदान केंद्रों पर आज फिर से वोटिंग हो रही है। चुनाव आयोग ने 20 अप्रैल को इसे लेकर आदेश जारी किया था। इन बूथों पर 19 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के फर्स्ट फेज में वोटिंग के दौरान हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी। जिन 11 बूथों पर दोबारा वोटिंग हो रही है, उसमें ​​​​साजेब, खुरई, थोंगम, लेइकाई बामन कंपू (नॉर्थ-ए), बामन कंपू (नॉर्थ-बी), बामन कंपू (साउथ-वेस्ट), बामन कंपू (साउथ-ईस्ट), खोंगमान जोन-V(ए), इरोइशेम्बा, इरोइशेम्बा ममांग लेइकाई, इरोइशेम्बा मयाई लेइकाई और खैदेम माखा शामिल हैं। इनर मणिपुर सीट पर कांग्रेस-भाजपा में मुकाबला इनर मणिपुर सीट पर BJP और कांग्रेस आमने-सामने हैं। BJP ने इस सीट से रिटायर्ड IPS थौनाओजम बसंत कुमार सिंह को कैंडिडेट बनाया है। बसंत कुमार अभी मणिपुर के शिक्षा मंत्री हैं और IPS अधिकारी रह चुके हैं। वहीं, कांग्रेस ने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अकोइजाम बिमोल को टिकट दिया है। CPI ने लैशराम सोनित कुमार सिंह को कैंडिडेट बनाया है। सोनित पार्टी के पूर्व स्टेट सेक्रेटरी और ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस के यूनिट जनरल सेक्रेटरी हैं। BJP और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने अपने उम्मीदवार बदले हैं। इस सीट से 2019 में BJP के आरके रंजन जीते थे। वे केंद्र सरकार में विदेश राज्य मंत्री हैं। कांग्रेस कैंडिडेट प्रोफेसर बिमोल पहला चुनाव लड़ने जा रहे हैं। देशभर में लोकसभा चुनाव से जुड़े अपडेट्स सिलसिलेवार यहां पढ़ें...

Dainik Bhaskar भास्कर अपडेट्स:छत्तीसगढ़ शराब घोटाला केस के आरोपी रिटायर्ड अफसर को एक दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया, आज फिर कोर्ट में पेशी

छत्तीसगढ़ शराब घोटाला केस में रिटायर्ड IAS अफसर अनिल टुटेजा को गिरफ्तार करने के बाद रायपुर कोर्ट में रविवार को पेश किया गया, जहां से उन्हें एक दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। आज फिर रायपुर की विशेष अदालत में उनकी पेशी होगी। छत्तीसगढ़ शराब घोटाला केस में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश टुटेजा को शनिवार को हिरासत में लिया था। रविवार सुबह ED अनिल टुटेजा को गिरफ्तार किया था। वहीं पूछताछ के बाद बेटे यश को छोड़ दिया है। आज की अन्य बड़ी खबरें... अमेरिका के डेलावेयर स्टेट यूनिवर्सिटी में 18 साल की महिला की गोली लगने से मौत अमेरिका के डेलावेयर स्थित डेलावेयर स्टेट यूनिवर्सिटी कैंपस में रविवार को गोली लगने से 18 साल की एक महिला की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि महिला की पहचान विलमिंगटन के रूप में की गई है। वह यूनिवर्सिटी की रजिस्टर्ड स्टूडेंट नहीं थी। महिला के शरीर के ऊपरी हिस्से में गोली लगी थी। यूनिवर्सिटी ने अपने बयान में कहा कि रविवार को कैंपस बंद था। यहां किसी के आने-जाने की इजाजत नहीं थी। घटना के बाद कैंपस में पुलिस गश्त बढ़ा दी गई।

Dainik Bhaskar बिहार-झारखंड सहित 4 राज्यों में आज हीटवेव का अलर्ट:MP-छत्तीसगढ़ समेत 26 राज्यों में बारिश की संभावना; हिमाचल में बर्फबारी से 98 सड़कें बंद

मौसम विभाग ने देश के 4 राज्यों के लिए आज हीटवेव का अलर्ट जारी किया है। इनमें बिहार, झारखंड, ओडिशा और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। इन राज्यों में रविवार को तापमान 40 डिग्री के पार पहुंचा। झारखंड के पूर्वी सिंहभूम स्थित बहरागोड़ा में सबसे ज्यादा 46.0 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। इसके अलावा छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी, गुजरात और महाराष्ट्र में भी तापमान 42 डिग्री के करीब रिकॉर्ड किया गया। उधर, ओडिशा के कुछ जिलों में तापमान 43 डिग्री के पार पहुंच गया है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार यहां आने वाले 3-4 दिन ऐसे ही हालात रहेंगे। दिल्ली में भी तापमान बढ़ने का दौर शुरू हो गया है। यहां आज तापमान 38 डिग्री के करीब पहुंचने का अनुमान है। हालांकि, मौसम विभाग ने दिल्ली में आज बूंदाबांदी की संभावना भी जताई है। वहीं, कुछ जगह धूल भरी आंधी चलने के आसार हैं। ऐसे में तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी और लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। रविवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 36.8 डिग्री सेल्सियस रहा। देश में गर्मी के दौर के साथ-साथ 26 राज्यों में बारिश का अनुमान जताया गया है। इनमें जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, सिक्किम, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, महाराष्ट्र, गोवा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और तेलंगाना शामिल हैं। राजस्थान के जयपुर-बीकानेर में आज बारिश-ओलावृष्टि का अलर्ट राजस्थान में रविवार को मौसम सामान्य रहा। अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। प्रदेश के सभी शहरों का तापमान 40 डिग्री से नीचे दर्ज किया गया। सबसे अधिक तापमान बाड़मेर में दर्ज किया गया। यहां अधिकतम तापमान 39.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। सोमवार को नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। लेकिन इसके कमजोर होने के कारण दो संभाग जयपुर और बीकानेर में आंधी-बारिश हो सकती है। 22 अप्रैल को नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। इससे गंगानगर, नागौर, हनुमानगढ, चूरू, सीकर, झुंझुनूं, जयपुर में बारिश हो सकती है। हिमाचल में बर्फबारी के कारण 98 सड़कें यातायात के लिए बंद हिमाचल में आज-कल बर्फबारी का दौर जारी रहेगा। खराब मौसम का यह सिलसिला 27 अप्रैल तक बना हुआ है। इस दौरान प्र

Dainik Bhaskar भास्कर ओपिनियन:पहले चरण के मतदान को लेकर दौड़ रहे हैं अंदाज घोड़े

18वीं लोकसभा के चुनाव में पहले चरण का मतदान कुछ फीका रहा। फीका इसलिए क्योंकि यह लगभग सभी जगह पिछली लोकसभा के मतदान प्रतिशत से दस प्रतिशत तक कम रहा। अलग-अलग राजनीतिक पार्टियाँ, नेता, कार्यकर्ता और आम आदमी भी इस कम मतदान प्रतिशत पर अपना-अपना अंदाज़ा लगाए जा रहे हैं। कोई कह रहा है इस कम मतदान से भाजपा को नुक़सान हो सकता है। कम मतदान का सबसे अहम तर्क यह माना जा रहा है कि पहली बार लोकसभा चुनाव का परिणाम लगभग तय माना जा रहा है। इसलिए लोगों में कोई उत्साह नहीं है और यही वजह है मतदान कम होने का। कम वोटिंग परसेंटेज से भाजपा के गलियारों में चिंता ज़रूर नज़र आ रही है। हालाँकि, लगता नहीं है कि इसमें किसी पार्टी का बड़ा नुक़सान या किसी का फ़ायदा हो सकता है। वैसे भी अब वोट देने का ट्रेन्ड काफ़ी बदल चुका है। पहले गाँव के गाँव किसी एक पार्टी को वोट डाल आते थे। पूरा परिवार किसी एक ही पार्टी को वोट दिया करता था। अब ऐसा नहीं है। भाई- भाई और पति-पत्नी भी अलग-अलग राजनीतिक दलों को वोट देते हैं। यही वजह है कि पहले वोट परसेंटेज से चुनाव परिणाम का सटीक अंदाज़ा लगा लिया जाता था, लेकिन अब मत का बिखराव इतना ज़्यादा हो चुका है कि अंदाज़ा लगाना मुश्किल हो गया है। हाँ, इतना ज़रूर कहा जा सकता है कि चुनाव या मतदान को लेकर लोगों में किसी तरह का उत्साह नहीं है। उत्साह नहीं है इसका मतलब यह है कि 2014 और 2019 की तरह कोई लहर इस बार नहीं है। कुछ विशेषज्ञ और विश्लेषक यह ज़रूर कह रहे हैं कि कांग्रेस को बहुत ज़्यादा मेहनत करनी थी। सही दिशा में प्रयास करने थे। अगर ऐसा होता तो परिणाम जो भी होता लेकिन चुनाव मैदान में एक तरह का उत्साह ज़रूर आ जाता। अफ़सोस कि कांग्रेस ने उतनी मेहनत नहीं की, जितनी वह कर सकती थी या उसे करनी चाहिए थे। आख़िर लोकतंत्र का पर्व इस तरह फीका नहीं होना चाहिए। उत्साह की कमी ने पहले चरण के मतदान का एक रहस्य यह भी उजागर किया है कि इस बार युवाओं का मतदान प्रतिशत काफ़ी कम रहा है। वैसे युवाओं को प्राय: भाजपा और मोदी के पक्ष में माना जाता है। युवाओं के कम मतदान का मतलब यह तो है ही कि इस बार भाजपा जिन सीटों पर भी जीतेगी उन पर जीत का अंतर काफ़ी कम रहने वाला है।

Dainik Bhaskar केजरीवाल डायबिटीज केस,ED राउज एवेन्यू कोर्ट में जवाब दाखिल करेगा:ईडी के समन के खिलाफ दिल्ली सीएम की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल डायबिटीज केस में सोमवार 22 अप्रैल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) राउज एवेन्यू कोर्ट में जवाब दाखिल करेगा। वहीं, ED के समन के खिलाफ केजरीवाल की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। तिहाड़ जेल के DG संजय बेनीवाल ने शनिवार 20 अप्रैल को AIIMS को चिट्ठी लिखी। इसमें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के लिए एक सीनियर डाइबिटोलॉजिस्ट अपॉइंट करने को कहा गया है। इस लेटर को आम आदमी पार्टी (AAP) ने भी रविवार (21 अप्रैल) को शेयर किया। इस बीच, रविवार को दिल्ली की मंत्री आतिशी तिहाड़ जेल के सामने इंसुलिन लेकर पहुंचीं। उन्होंने केंद्र सरकार को ब्रिटिश राज से ज्यादा क्रूर बताया। इससे पहले आतिशी ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार केजरीवाल को मारने की साजिश कर रही है। अरविंद केजरीवाल 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में हैं। 18 अप्रैल को उन्होंने कोर्ट से अपने डॉक्टर से सलाह लेने और इंसुलिन की मांग वाली याचिका लगाई थी, जिस पर 22 अप्रैल को फैसला आना है। केजरीवाल की पत्नी बोलीं- जेल में केजरीवाल को मारना चाहते हैं रांची में रविवार 21 अप्रैल को INDI गठबंधन की रैली हुई। इसमें अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता, पंजाब के सीएम भगवंत मान, झारखंड के सीएम चंपई सोरेन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव शामिल हुए। दिल्ली के सीएम की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने कहा- केंद्र सरकार अरविंद केजरीवाल को मारना चाहती है। उन्हें जेल में सही दवा नहीं दी जा रही। अरविंद केजरीवाल और हेमंत सोरेन को जेल में डाल दिया गया। ये सरकार की तानाशाही को दर्शाता है। आम आदमी पार्टी ने तिहाड़ प्रशासन की ये चिट्ठी शेयर की है... सरकार का झूठ उजागर हो गया है: AAP AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने बताया कि तिहाड़ जेल की रिपोर्ट झूठ का पुलिंदा है। सबसे पहले केजरीवाल की शुगर को बेतरतीब ढंग से मापा गया। जब भी शुगर लेवल कम हुआ है, रिपोर्ट में केवल वही रिकॉर्ड है। ये अरविंद केजरीवाल को मारने की साजिश है। अरविंद केजरीवाल बार-बार जेल प्रशासन से इंसुलिन मांग रहे हैं, लेकिन वे इसे देने के लिए तैयार नहीं हैं। केंद्र सरकार कहती रही कि केजरीवाल की देखभाल के लिए जेल में एक विशेषज्ञ मौजूद है। तिहाड़ DG के एम्स को डायबिटोलॉजिस्ट भेजने के लिए चिट्‌ठी लिखने के बाद उनका झूठ उजागर हो गया है। सुनीता केजरीवाल

Dainik Bhaskar कर्नाटक मर्डर केस- नड्‌डा ने CBI जांच की मांग की:बोले- नेहा को न्याय मिलना चाहिए; मुस्लिम समुदाय ने विक्टिम के सपोर्ट में बंद बुलाया

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने रविवार को कर्नाटक के हुब्बली-धारवाड़ में कांग्रेस कॉर्पोरेटर निरंजन हिरेमथ से मुलाकात की और उनकी बेटी नेहा की हत्या पर दुख जताया। मुलाकात के बाद नड्‌डा ने कहा कि हम इस मामले में CBI जांच की मांग करते हैं। नड्‌डा ने कहा कि अगर राज्य सरकार चाहे तो तो वे इस केस को CBI को ट्रांसफर कर सकती है। भाजपा इसमें साथ देगी, ताकि नेहा को न्याय मिले, इंसानियत को न्याय मिले और ऐसे मामले फिर न हों। यहां तक कि नेहा के पिता ने भी CBI जांच की मांग की है क्योंकि उन्हें राज्य की पुलिस पर भरोसा नहीं है। निरंजन हिरेमथ ने कहा कि नेहा की हत्या को लेकर मैंने पुलिस को 8 लोगों के नाम दिए थे। उन्होंने एक को भी अब तक नहीं पकड़ा है। अगर वे आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकते, तो केस CBI को दे दें। निरंजन ने कहा- इस मामले में कमिश्नर एक महिला है, फिर भी वह एक लड़की की हत्या को गंभीरता से नहीं ले रही हैं। कमिश्नर किसी दबाव में काम कर रही हैं। मेरा विश्वास अब टूट रहा है। मामले में लापरवाही के लिए कमिश्नर का तबादला किया जाना चाहिए। मुस्लिम समुदाय ने एक दिन के बंद का आह्वान किया नेहा की हत्या के खिलाफ विरोध जताने के लिए हुब्बली के मुस्लिम समुदाय ने सोमवार को बंद का आह्वान किया है। धारवाड़ की अंजुमन-ए-इस्लाम समिति के प्रेसिडेंट इस्माइल तमतगार ने कहा कि सुबह 10 बजे से शाम 3 बजे तक मुस्लिम समुदाय के सभी व्यापारी नेहा की आत्मा की शांति की दुआ करते हुए दुकानें बंद रखेंगे। उन्होंने कहा कि हम नेहा के परिवार के साथ हैं। हम अपनी दुकानों पर जस्टिस फॉर नेहा के पोस्टर लगाएंगे। नेहा के लिए एक रैली भी निकाली जाएगी। हमारा प्रदर्शन ये संदेश देने के लिए है कि किसी बच्ची के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए। हम इस हत्या की आलोचना करते हैं। फैयाज ने कॉलेज कैंपस में नेहा की हत्या की थी फैयाज खोंडुनाईक ​​​​​​ने 18 अप्रैल को हुबली स्थित बीवीबी कॉलेज कैंपस में नेहा हिरेमथ ​​​​​​की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। वह MCA फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट थी। फैयाज उसका पूर्व क्लासमेट था। पुलिस ने उसे वारदात के एक घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया था। फैयाज ने पूछताछ के दौरान बताया कि नेहा उसके साथ रिलेशनशिप में थी। कुछ दिनों से अचानक वह उससे दूर रहने लगी थी। इसलिए उसने घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद पूरे कर्नाटक में आक

Dainik Bhaskar 28 हफ्ते की प्रेग्नेंट नाबालिग रेप-विक्टिम की SC में सुनवाई:अबॉर्शन की इजाजत मांगी थी; अस्पताल आज दाखिल करेगा मेडिकल रिपोर्ट

महाराष्ट्र की 14 साल की रेप पीड़ित, जो 28 हफ्ते की प्रेग्नेंट है, उसकी अबॉर्शन की याचिका पर आज (22 अप्रैल) को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने 19 अप्रैल को इस मामले में अर्जेंट सुनवाई की थी, जिसमें कोर्ट ने लड़की का मेडिकल कराने का आदेश दिया था। 20 अप्रैल को महाराष्ट्र के एक अस्पताल में लड़की का मेडिकल होना था। आज सुबह 10:30 बजे अस्पताल सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट दाखिल करेगा। इस रिपोर्ट में बताया जाएगा कि नाबालिग अबॉर्शन झेल पाएगी या नहीं। उस पर शारीरिक और मानसिक रूप से क्या असर होगा। इस मामले में नाबालिग की मां ने पहले बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। 4 अप्रैल को बॉम्बे हाईकोर्ट ने नाबालिग को अबॉर्शन की इजाजत नहीं दी। इसके बाद लड़की की मां ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली। पिछली सुनवाई CJI चंद्रचूड़ और जस्टिस जेबी पारदीवाला की बेंच ने की थी। सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को आदेश खारिज करते हुए नाबालिग के मेडिकल चेकअप का आदेश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मेडिकल बोर्ड राय दे कि बच्ची की जिंदगी खतरे में डाले बिना अबॉर्शन कैसे होगा इस मामले में IPC की धारा 376 और POCSO एक्ट में केस दर्ज है। CJI चंद्रचूड़ की बेंच ने पिछली सुनवाई में कहा कि यौन उत्पीड़न को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट ने जिस मेडिकल रिपोर्ट पर भरोसा किया, वह नाबालिग पीड़ित की शारीरिक और मानसिक कंडीशन का आकलन करने में विफल रही है। बेंच ने निर्देश दिया था कि महाराष्ट्र सरकार याचिकाकर्ता और उसकी नाबालिग बेटी को सेफ्टी के साथ अस्पताल ले जाना तय करें। जांच के लिए गठित मेडिकल बोर्ड इस बात पर भी राय दे कि क्या नाबालिग के जीवन को खतरे में डाले बिना अबॉर्शन किया जा सकता है। प्रेग्नेंसी अबॉर्शन का नियम क्या कहता है मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी (MTP) एक्ट के तहत, किसी भी शादीशुदा महिला, रेप विक्टिम, दिव्यांग महिला और नाबालिग लड़की को 24 हफ्ते तक की प्रेग्नेंसी अबॉर्ट करने की इजाजत दी जाती है। 24 हफ्ते से ज्यादा प्रेग्नेंसी होने पर मेडिकल बोर्ड की सलाह पर कोर्ट से अबॉर्शन की इजाजत लेनी पड़ती है। MTP एक्ट में बदलाव साल 2020 में किया गया था। उससे पहले 1971 में बना कानून लागू होता था। अक्टूबर 2023 में कोर्ट ने 26 हफ्ते की प्रेग्नेंट शादीशुदा महिला को अबॉर्शन की इजाजत नहीं दी थी पिछले साल 16 अक्टूब

Dainik Bhaskar मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ:सुनीता केजरीवाल बोलीं- अरविंद को जेल में मारने की साजिश; ग्रेजुएशन के बाद भी PhD कर सकेंगे; राहुल को फूड पॉइजनिंग

नमस्कार, कल की बड़ी खबर दिल्ली के CM की पत्नी सुनीता केजरीवाल के आरोपों की रही, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि केंद्र सरकार अरविंद केजरीवाल की हत्या की साजिश रच रही है। एक खबर हायर एजुकेशन से जुड़ी रही, अब ग्रेजुएट स्टूडेंट्स भी PhD कर सकेंगे। लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर... अब कल की बड़ी खबरें... 1. AAP का आरोप- दिल्ली CM को इंसुलिन नहीं दी जा रही; आतिशी इंसुलिन लेकर जेल पहुंचीं दिल्ली के CM की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार अरविंद केजरीवाल को मारना चाहती है। उन्होंने ये बातें रांची में इंडिया ब्लॉक की रैली में कही। दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि तिहाड़ जेल में केजरीवाल को इंसुलिन नहीं दी जा रही, वह जेल के सामने इंसुलिन लेकर पहुंचीं। हालांकि, जेल के अफसर का कहना है कि केजरीवाल जेल आने के महीनों पहले इंसुलिन लेना बंद कर चुके थे। आज केजरीवाल की दो याचिकाओं पर सुनवाई: केजरीवाल 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में हैं। 18 अप्रैल को उन्होंने कोर्ट से अपने डॉक्टर से सलाह लेने और इंसुलिन की मांग वाली याचिका लगाई थी, जिस पर 22 अप्रैल को फैसला आना है। ED के समन के खिलाफ केजरीवाल की याचिका पर भी आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। पूरी खबर यहां पढ़ें... 2. मोदी बोले- कांग्रेस आपकी मेहनत की कमाई उनमें बांटेगी, जिनके ज्यादा बच्चे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के जालौर और बांसवाड़ा में जनसभाएं कीं। उन्होंने जालौर में बिना नाम लिए सोनिया गांधी पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि जो लोग चुनाव नहीं जीत नहीं सकते, वो मैदान छोड़ कर इस बार राजस्थान से राज्यसभा में आए हैं। मोदी ने बांसवाड़ा में कहा, 'कांग्रेस अपने मेनिफेस्टो में माताओं-बहनों से सोना छीनने और सभी में बांटने की बात कर रही है। पहले जब उनकी सरकार थी, तब उन्होंने कहा था देश की संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। इसका मतलब ये संपत्ति इकट्‌ठी करके उनको बांटेंगे, जिनके ज्यादा बच्चे हैं, घुसपैठियों को बांटेंगे। मोदी की स्पीच का सार: मोदी ने कहा कि कांग्रेस की दुकान में हमेशा भय, भूख और भ्रष्टाचार ही बिकता है। इंडी गठबंधन के लोग अपने बच्चों को फिट करने में लगे हैं। मोदी आपकी संतानों के भविष्य के लिए खप रहा है। PM ने कहा कि आने वाले 5 साल मुफ्त राशन मिलता

Dainik Bhaskar अग्नि केली त्योहार:ग्रामीण एक-दूसरे पर फेंकते हैं जलते नारियल के छिलके; देवी दुर्गा की करते हैं अराधना

कर्नाटक के मंगलुरु में अग्नी केली त्योहार मनाया गया। इस त्योहार को थुथेधारा त्योहार भी कहा जाता है। ये त्योहार मंगलुरु के कतील दुर्गपरामेश्वरी मंदिर में मनाया जाता है। इस दिन अट्टूर और कोडेट्टूर गांव के लोग मंदिर में एक दूसरे पर जलते नारियल के छिलके फेंकते हैं। ये खेल 15 मिनट तक चलता है। अग्नि केली युद्ध की देवी दुर्गा को समर्पित त्योहार है। ग्रामीणों का मानना है कि इन रस्मों से देवी दुर्गा खुश होती है ।

Dainik Bhaskar दिल्ली की गाजीपुर लैंडफिल साइट में आग:7 घंटे से धुएं के साथ लपटें निकल रहीं; फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां काबू पाने में जुटीं

दिल्ली की गाजीपुर लैंडफिल साइट में रविवार शाम से भीषण आग लगी है। डंपिंग यार्ड से पिछले करीब 7 घंटे से आग की लपटों के साथ घुएं का गुबार निकल रहा है। फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश में जुटी हैं। सुबह तक इस पर काबू पाने की संभावना है। दिल्ली फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें रविवार शाम करीब बजे आग लगने की सूचना मिली थी। शुरुआत में दो दमकल गाड़ियों को भेजा गया। बाद में 8 और गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। इनमें से 4 गाड़ियां डंपिंग यार्ड के ऊपरी हिस्से पर हैं। आग लगने का कारण गर्म और शुष्क मौसम बताया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि गीला कबाड़ दबे रहने से उसमें हीट पैदा होती है। फिर उसमें गैस बनती है, जिससे आग लगती है। फिलहाल, घटना में किसी के हताहत की खबर नहीं है।